डीएम किसे कहते हैं? डीएम कैसे बने?

By | July 12, 2021

डीएम किसे कहते हैं? डीएम कैसे बने? – दोस्तों कैसे हैं आप सभी? आशा करता हूं आप सभी स्वस्थ होंगे। आज इस आर्टिकल में हम आपको एक बहुत इंपॉर्टेंट टॉपिक पर जानकारी देने जा रहे हैं। आज इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे हैं डीएम किसे कहते हैं? डीएम कैसे बने? दोस्तों अगर आप डीएम बनना चाहते हैं या डीएम से जुड़ी जानकारी पाना चाहते हैं तो यह आर्टिकल आखिरी तक पूरा पढ़िए। इस आर्टिकल में आपको डीएम से जुड़ी संपूर्ण जानकारी दी गई है।

दोस्तों जैसा कि आप सभी को पता है हमारा भारत देश संविधान के अनुसार कार्य करता है। संविधान में कुछ नियम लिखे हुए हैं। देश के हर एक नागरिक तथा सरकार को इन नियमों को मानना होता है और इन्हीं नियमों के आधार पर देश चलता है। इतने बड़े देश में कई राज्य हैं और प्रत्येक राज्य में अनेक जिले हैं। हर जिले में अनेक गांव हैं। इस परिस्थिति में केंद्र सरकार द्वारा जारी की जाने वाली हर योजना को देश के अंतिम व्यक्ति तक पहुंचाना तथा हर एक छोटे से छोटे गांव में कानून व्यवस्था लागू करना यह एक बहुत चुनौतीपूर्ण काम है।

प्रत्येक जिले में कानून व्यवस्था को संभालने के लिए तथा सरकार द्वारा जारी की गई योजनाओं को हर व्यक्ति तक पहुंचाने के लिए, जिले में शांति व्यवस्था बनाए रखने के लिए एवं जिले में महत्वपूर्ण फैसले लेने के लिए सरकार द्वारा एक विशिष्ट अधिकारी नियुक्त किया जाता है। इस विशेष अधिकारी को डीएम कहते है। उम्मीद है कई बार आपने टेलीविजन में न्यूज़पेपर में जा सोशल मीडिया में डीएम शब्द जरूर सुना होगा। आपने सुना होगा डीएम के द्वारा आज यह फैसला लिया गया डीएम के द्वारा आज इस घटना का निरीक्षण किया गया।

Read More – स्टूडेंट की सफलता के लिए खास टिप्स

जब भी हम डीएम के बारे में सुनते हैं या कहीं पर डीएम को देखते हैं हमारे मन में यह इच्छा जरूर जन्म लेती है काश मैं भी एक डीएम होता। लेकिन दोस्तों डीएम बनना इतना आसान नहीं है। डीएम बनने के लिए आपको यूपीएससी की परीक्षा पास करनी पड़ती है। यूपीएससी की परीक्षा की तैयारी करोड़ों छात्र करते हैं लेकिन इनमें से सिर्फ कुछ छात्र ही इस परीक्षा को पास कर पाते हैं। यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा है।

फिलहाल आज का हमारा यह टॉपिक यूपीएससी परीक्षा पर नहीं है। आज का हमारा टॉपिक डीएम क्या है इस शीर्षक पर है। दोस्तों अगर आप भी डीएम के बारे में जानना चाहते हैं और डीएम से जुड़ी सभी जानकारियां प्राप्त करना चाहते हैं तो इसके लिए नीचे की जानकारी को ध्यान से पढ़िए।

डीएम कौन होता है?

आइए दोस्तों अब हम आपका ज्यादा समय व्यर्थ ना करते हुए आपको बताते हैं डीएम कौन होता है? आपकी जानकारी के लिए बता दें डीएम का फुल फॉर्म डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट होता है। इसे हम जिलाधिकारी के नाम से भी जानते हैं।

एक जिलाधिकारी अपने जिले का सबसे बड़ा अधिकारी होता है। उस जिले में काम करने वाले अन्य अधिकारी या कर्मचारी जिला अधिकारी के अंतर्गत काम करते हैं। जिलाधिकारी को हम एक प्रकार से जिले का मुखिया कह सकते हैं। जिस प्रकार देश में राष्ट्रपति, देश में राज्यपाल होता है बिल्कुल उसी प्रकार जिले में एक जिला अधिकारी होता है। जिला अधिकारी का पद एक संवैधानिक पद है।

जिला अधिकारी अपने जिले में कई कठोर एवं महत्वपूर्ण फैसले लेने के लिए उत्तरदाई होता है। जिला अधिकारी अपने जिले में हर वह फैसला लेता है जो फैसला उसके जिले के लिए उचित होता है। जिले में कर्फ्यू लगाने जैसे कठिन फैसले भी जिला अधिकारी के द्वारा लिए जाते हैं। जिलाधिकारी अपने जिले में शांति व्यवस्था कायम रखने के लिए जिम्मेदार होता है। इसी के साथ-साथ यदि उस जिले में कोई राजनैतिक या अन्य घटना या रैली हो रही है तो उसके लिए भी जिलाधिकारी परमिशन देता है।

जिला अधिकारी का ड्रेस कोड

आपको जानकर हैरानी होगी जिला अधिकारी का पद इतना महत्वपूर्ण और इतना संवेदनशील पद होता है इसके बावजूद जिला अधिकारी के लिए कोई विशेष ड्रेस कोड निर्धारित नहीं है। जिलाधिकारी हमेशा फॉर्मल पैंट या शर्ट में रहता है। जिला अधिकारी के लिए सरकार द्वारा कोई ड्रेस निर्धारित नहीं की गई है।

जिला अधिकारी की तनख्वाह

जिला अधिकारी का पद एक बहुत शक्तिशाली, मान सम्मान एवं प्रतिष्ठा वाला पद है। जिलाधिकारी अपने जिले का सबसे सीनियर अधिकारी होता है इसीलिए जिलाधिकारी को ढेर सारी तनख्वाह मिलती है। एक जिलाधिकारी को लगभग ₹75000 से लेकर ₹150000 तक सैलरी मिलती है।

जिला अधिकारी को सैलरी के साथ-साथ अन्य कई सुख सुविधाएं भी मिलती हैं। एक जिला अधिकारी को रहने के लिए उच्च कोटि का सरकारी बंगला साथ में अनेक नौकर सिक्योरिटी के लिए पुलिस दी जाती है। इसी के साथ साथ जिलाधिकारी के पास कई कार्यालय होते हैं।

जिला अधिकारी कैसे बने?

जिला अधिकारी कैसे बने? यह एक बहुत बड़ा प्रश्न है। इसके बारे में आपको विस्तृत से समझना होगा। लेकिन हम आपको संक्षेप में बता रहे हैं जिला अधिकारी कैसे बने?

जिला अधिकारी बनने के लिए आपकी उम्र 21 वर्ष से अधिक होनी चाहिए। जिला अधिकारी बनने के लिए ग्रेजुएशन किया होना अनिवार्य है। प्रतिवर्ष यूपीएससी यूनियन पब्लिक सर्विस कमीशन संघ लोक सेवा आयोग की भर्ती आयोजित की जाती है। इसमें आप को प्रतिभाग करना होगा। इसके बाद आपकी एक परीक्षा होगी। यह परीक्षा प्री मेंस इंटरव्यू जैसे प्रमुख चरणों में होगी। यदि आप यह सभी परीक्षाएं पास कर लेंगे अंत में आपकी एक मेरिट बनेगी। इस मेरिट के अनुसार आपको आईएएस अधिकारी की रैंक मिलेगी। यदि आपके नंबर अधिक होंगे तो आपको डीएम का दायित्व दिया जा सकता है।

निष्कर्ष

दोस्तों आशा करता हूं आपके मन में डीएम से जुड़े जितने भी प्रश्न थे उन सभी का जवाब आपको मिल गया होगा। आज इस आर्टिकल में हमने आपको बताया डीएम किसे कहते हैं? डीएम का मुख्य कार्य क्या होता है? डीएम कैसे बने? दोस्तों अगर आपको यह जानकारी अच्छी लगी है इसे अपने दोस्तों के पास शेयर करें। आर्टिकल को आखिरी तक पढ़ने के लिए बहुत-बहुत धन्यवाद।