हर सीरीज के बाद अपना किट बैग दान कर देते हैं ऋषभ पंत, जानिए क्या है वजह ?

By | January 28, 2021

हर सीरीज के बाद अपना किट बैग दान कर देते हैं ऋषभ पंत, जानिए क्या है वजह ?  – गाबा में भारतीय टीम की जीत के हीरो रहे ऋषभ पंत इस समय टेस्ट क्रिकेट में दुनिया के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बल्लेबाज बन चुके हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि यह युवा खिलाड़ी किसी भी सीरीज के बाद अपना किट बैग दान कर देता है? जी हाँ, वे अपना किट बैग अपने जूनियर क्रिकेटरों को दे देते हैं ताकि उनको इससे मदद मिल सके। पहले उनके साथ भी ऐसा होता था।

इंडिया टुडे को दिए गए इंटरव्यू में किया खुलासा :

इंडिया टुडे को दिए एक इंटरव्यू में पंत ने बताया कि BCCI के कॉन्ट्रेक्ट के बाद से वह ऐसा करते आ रहे हैं। तारक सर उन्हें बल्लेबाजी, विकेटकीपिंग से जुड़े सामान, जूते और बैट देते थे। आशीष नेहरा भी क्लब में उन्हें काफी चीजें देते थे। इससे उन्हें काफी मदद मिलती थी। जब वह छोटे थे तो उन्हें भी काफी लोग सामान देते थे और अब वह उस स्थिति में हैं, जब दूसरों की मदद कर सकते हैं।

इस समय टेस्ट क्रिकेट में विश्व के सर्वश्रेष्ठ विकेटकीपर बल्लेबाज हैं ऋषभ पंत:

ऋषभ पंत इस समय आईसीसी टेस्ट बैट्समैन रैंकिंग में 13वें स्थान पर हैं, जो वर्तमान समय में विश्व में किसी भी विकेटकीपर बल्लेबाजों में सबसे ऊपर है। उनके नीचे दक्षिण अफ्रीका के कप्तान एवं विकेटकीपर क्विंटन डी कॉक हैं, जो आईसीसी टेस्ट बैट्समैन रैंकिंग में 15वें स्थान पर हैं।

किसी भी भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज के लिए अब तक के सर्वश्रेष्ठ टेस्ट रैंकिंग पर हैं ऋषभ पंत:

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि आज तक किसी भी भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज की सर्वश्रेष्ठ आईसीसी टेस्ट बैट्समैन रैंकिंग 19 रहा है, जो पूर्व भारतीय कप्तान एवं विकेटकीपर एमएस धोनी की थी। हालांकि पंत इससे पहले साल 2019 में ऑस्ट्रेलिया में शतक जड़कर 14वें स्थान पर रह चुके हैं।

एशिया के बाहर दो टेस्ट शतक जड़ने वाले इकलौते भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज हैं ऋषभ पंत:

23 वर्षीय युवा विकेटकीपर बल्लेबाज पंत एशिया के के बाहर दो टेस्ट शतक जड़ने वाले विश्व के इकलौते विकेटकीपर बल्लेबाज हैं। उन्होंने अपने टेस्ट करियर का पहला शतक द ओवल में इंग्लैंड के खिलाफ (2018) और दूसरा शतक सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ (2019) जड़ा था।

ऑस्ट्रेलिया में सर्वश्रेष्ठ 3 पारियाँ खेलने वाले भारतीय विकेटकीपर बल्लेबाज हैं ऋषभ पंत :

ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलियाई सरजमीं पर एक पारी में सर्वश्रेष्ठ स्कोर करने वाले विकेटकीपर बल्लेबाज भी हैं। इससे पहले फारूख इंजीनियर ने सिडनी में 89 रनों की पारी खेली थी। अब ऑस्ट्रेलिया में भारतीय विकेटकीपरों द्वारा खेली गई सर्वश्रेष्ठ पारियों में शीर्ष 3 ऋषभ पंत के हैं। ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उनकी शीर्ष पारियाँ 159*, 97 और 89* हैं।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर सीमित ओवर सीरीज के लिए ऋषभ पंत को नहीं मिला था मौका:

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर ऋषभ पंत को सीमित ओवरों की सीरीज में मौका नहीं मिला था। उनकी जगह पर केएल राहुल चयनकर्ताओं की पहली पसंद बने थे। उन्होंने टी20आई और वनडे सीरीज में विकेटकीपिंग का जिम्मा संभाला था। टी20आई सीरीज में संजू सैमसन भी टीम का हिस्सा थे। सैमसन के टीम में होने के कारण ही उन्हें टी20 सीरीज से बाहर किया गया था।

टेस्ट सीरीज में भी पहले मैच से हुए थे बाहर :

ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ पहले टेस्ट में विराट कोहली ने ऋद्धिमान साहा को विकेटकीपर के तौर पर मौका दिया था। उस मैच में भारतीय टीम दूसरे पारी में 36 रनों पर ऑलआउट हो गई। दूसरे मैच में अजिंक्य रहाणे को कप्तानी का मौका मिला और ऋषभ पंत प्लेइंग इलेवन में शामिल हुए। इस मैच में पंत पहली पारी में 30 रन बनाकर आउट हुए, लेकिन भारतीय टीम को जीत हासिल हुई।

तीसरे टेस्ट में उन्होंने पहले पारी में 36 रन बनाए लेकिन दूसरे पारी में 97 रनों की तेजतर्रार पारी खेली। लेकिन नीचे के खिलाड़ी चोटिल थे इसलिए उन्होंने काफी मसक्कत करके इस मैच को ड्रॉ कराया। चौथे टेस्ट मैच में पंत ने पहली पारी में 23 रन बनाए लेकिन दूसरी पारी में नाबाद 89* रनों की पारी खेलकर टीम इंडिया को गाबा के मैदान पर ऐतिहासिक जीत दिलाई। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.